Loading...

क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 हाल ही में समाप्त हुआ। इस वर्ल्ड कप की विजेता टीम रही इंग्लैंड अपने क्रिकेट इतिहास में पहली बार वर्ल्ड कप विजेता बना है। आईसीसी द्वारा यह टूर्नामेंट 30 मई से 14 जुलाई तक इंग्लैंड में करवाई गई। इस 12 में सीजन में 10 टीमों ने भाग लिया और टॉप की चार टीमों ने सेमीफाइनल में प्रवेश किया।

अगर हम पहली गलती की बात करें तो यह गलती भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेले गए पहले सेमीफाइनल मैच में की गई। यह मैच मैनचेस्टर में खेला गया लेकिन लेकिन बारिश के चलते हैं यह मैच रद्द कर दिया गया उस समय तक न्यूजीलैंड ने 46.1 और में पांच विकेट पर 211 रन बना लिए थे। यह अगले दिन शुरू किया गया मैच पूरे 50-50 ओवर का हुआ। न्यूजीलैंड ने पहले बैटिंग करते हुए इंडिया को 240 रन का लक्ष्य दिया। इंडिया की तरफ से शुरुआत अच्छी नहीं रही उन्होंने मात्र 5 रन पर अपने 3 विकेट खो दिए रविंद्र जडेजा और महेंद्र सिंह धोनी ने संघर्ष किया और मैच को अंत तक ले गई। 48 वे ओवर में जडेजा 77 रन पर आउट हो गए। न्यूजीलैंड मैच 18 रन से जीत गया। धोनी 49 वें ओवर की तीसरी गेंद पर रन आउट हो गए। इस समय पारी का तीसरा पावरप्ले चल रहा था।इस में 30 गज के दायरे से बाहर पांच खिलाड़ी रह सकते हैं। लेकिन न्यूजीलैंड के कप्तान विलियमसन ने अपने छह खिलाड़ी 30 गज के दायरे से बाहर फील्डिंग पर लगाए थे। रूल के अनुसार यह नौ बॉल थी। मैच के बाद अंपायर ने अपनी यह गलती स्वीकार की। अगर वह नो बोल दी जाती तो इस मैच का नतीजा कुछ और होता।

अगर हम दूसरे सेमीफाइनल की बात करें तो यह मैच ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेला गया यह मैच इंग्लैंड ने एकतरफा जीता और फाइनल में जगह बनाई। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बैटिंग करते हुए इंग्लैंड के सामने 224 रन का लक्ष्य रखा। इस लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की टीम ने इस लक्ष्य को आसानी से बना लिया।

इस विश्व कप का फाइनल मैच इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया यह मैच रोमांस से भरा हुआ था विश्व कप के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ था जो इस मैच में हुआ। 100 ओवरों में भी इस मैच का निर्णय नहीं हो सका। दोनों टीमों के बीच यह मैच टाई रहा सुपर ओवर में न्यूजीलैंड को 16 रन का लक्ष्य मिला लेकिन न्यूजीलैंड ने 15 रन ही बना सका। इंग्लैंड मैच में ज्यादा बाउंड्री लगाने की वजह से जीत गया। लेकिन मैच के बाद सोशल मीडिया पर इस मैच को लेकर विवाद खड़े हो गए बात 49 में ओवर की है जब स्टॉक ने शॉट लगाया तो वहां पर 2 रन के लिए दौड़े। गुप्टिल ने थ्रो किया तो बेनस्टॉक के बल्ले से गेंद लगकर बाउंड्री पर चली गई जिसके चलते अंपायर ने 6 रन दे दिए। लेकिन रुल के अनुसार जब गुप्टिल ने थ्रो किया था तो दोनों बल्लेबाजों ने एक दूसरे को क्रॉस नहीं किया था। जिसके कारण इंग्लैंड को 5 रन मिलने चाहिए थे। इस समय अंपायरिंग श्रीलंका के अंपायर कमार धर्म सेना कर रहे थे। एक सोशल मीडिया इंटरव्यू में कुमार धर्म सेना ने अपनी गलती स्वीकार की है।

Loading...