Loading...

विश्वकप समाप्त हो चूका है और सभी टीम अब अपने आगामी दौरे के लिए तैयार हो रही है। ऐसे में क्रिकेट का महाकुम्भ कहे जाने वाले विश्वकप की गर्मी पीछे छूट जाएगी। सभी टीम इस सीजन में खूब क्रिकेट खेली है और अगले सीजन में भी कार्यक्रम बहुत ही व्यस्त है। ऐसे में अब भारतीय टीम भी कई सीरीज खेलने के लिए तैयार है जिसमे पहला वेस्टइंडीज दौरा है लेकिन उसके बाद भारतीय टीम के सामने चार चुनौतियाँ होगी।

15 सितंबर से शुरू होने वाले सत्र में दक्षिण अफ्रीका, बांग्लादेश, वेस्टइंडीज और आस्ट्रेलिया के रूप में भारत के सामने चार चुनौतियाँ होगी जिसे पार कर पाना भारत के लिए आसान नहीं होगा। दौरान ये चार टीमें भारत के दौरे पर होंगी। इस दौरान पूरे सत्र में भारत पांच टेस्ट, नौ वनडे और 12 टी-20 मैच खेलेगा। इस दौरान पांच टेस्ट मैच ऐसे होंगे जो टेस्ट चैम्पियनशिप के तहत खेले जाएंगे।

इस सत्र की शुरुआत भारत दक्षिण अफ्रीका के साथ होगी। इस दौरान इनके बीच सितंबर-अक्टूबर में तीन टी-20 और तीन टेस्ट मैचों की सीरीज खेली जाएगी। इसके बाद बांग्लादेश नंवबर में भारत का दौरा करेगी। इस दौरान तीन टी-20 और दो टेस्ट मैचों की सीरीज भी खेलेगी। इसके बाद विंडीज भारत दौर पर आएगी।

वेस्टइंडीज भारत दौरे पर तीन टी-20 और तीन वनडे मैच की सीरीज खेलेगी। वेस्टइंडीज के बाद 2020 में भारत आस्ट्रेलिया की मेजबानी करेगा। इस दौरे पर तीन वनडे मैच खेले जायेंगे। इस दौरे के बाद एक बार फिर दक्षिण अफ्रीका भारत आएगी और तीन वनडे मैच खेलेगी।

Loading...