T20 WC: टीम इंडिया की इस हार ने तोड़ा रवि शास्त्री का दिल, न्यूजीलैंड ने सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है

टी20 वर्ल्ड 2021 में न्यूजीलैंड ने सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है. रविवार को अबु धाबी में खेले गए अहम मुकाबले में न्यूजीलैंड ने अफगानिस्तान को 8 विकेट से हरा दिया. अफगानिस्तान की हार के साथ ही भारतीय टीम का सफर भी समाप्त हो गया.

अब सोमवार को भारत और नामीबिया के बीच होने वाला मुकाबला महज औपचारिकता बनकर रह गया है. भारतीय टीम की कोशिश इस मुकाबले में बड़ी जीत हासिल करके हेड कोच रवि शास्त्री और बतौर टी20 कप्तान विराट कोहली को विदाई देना चाहेगी. हालिया सालों में यह तीसरी बार हुआ है, जब कीवी टीम ने आईसीसी टूर्नामेंट्स में हिंदुस्तान का दिल तोड़ा है

आईसीसी वर्ल्ड कप 2019

इस वर्ल्ड कप में विराट कोहली की अगुवाई में भारत ने शानदार प्रदर्शन करते हुए सेमीफाइनल में जगह बनाई थी. न्यूजीलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवर में 239 रनों का स्कोर खड़ा किया था. जवाब में भारतीय टीम ने एक समय 92 रनों पर अपने छह विकेट खो दिए थे. इसके बाद धोनी (50) और रवींद्र जडेजा (77) ने 116 रनों की साझेदारी कर भारत की वापसी करा दी.

 

टी20 वर्ल्ड कप के बाद टीम इंडिया के साथ अपना 4 साल का सफर खत्म करने वाले रवि शास्त्री ने अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में कहा है कि उन्हें टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल की हार ने सबसे ज्यादा निराश किया, क्योंकि टीम उसे जीत सकती थी. पूर्व भारतीय ऑलराउंडर ने कहा, “इस तरह की टीम के बावजूद हम एक या दो नहीं बल्कि तीन आईसीसी ट्रॉफी जीतने में नाकाम रहे. लेकिन मुझे सबसे ज्यादा जो चुभती है वो है आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप. हमने अपना दबदबा बनाया था और 5 साल से नंबर एक टीम थे और वो इकलौता मैच हारने के लायक नहीं थे.”

कम से कम ड्रॉ होना चाहिए था फाइनल

शास्त्री ने बताया कि जून 2021 में साउथैंप्टन में न्यूजीलैंड के खिलाफ हुए उस फाइनल में भारतीय टीम कहां पिछड़ गई. पूर्व भारतीय कोच ने कहा कि टीम इंडिया को कम से कम ड्रॉ कराना चाहिए था. उन्होंने कहा, “हम क्वारंटीन से गुजरे. न्यूजीलैंड की तैयारी बेहतर थी. उन्होंने उसी वक्त इंग्लैंड को इंग्लैंड में ही हराया था. वहां उनके लिए घरेलू परिस्थितियों जैसा था. लेकिन हमें कम से कम ड्रॉ करना चाहिए था, क्योंकि हमने बिना विकेट गंवाए 60 रन बना लिए थे. उस हार ने मुझे बेहद निराश किया.”

टी20 वर्ल्ड कप से ज्यादा 2019 की हार की निराशा

टेस्ट चैंपियनशिप के अलावा शास्त्री को 2019 विश्व कप की हार ने भी काफी निराश किया. वह 2021 टी20 विश्व कप की हार को ज्यादा हैरान करने वाला नहीं मानते क्योंकि उनके अनुसार भारतीय टीम सर्वश्रेष्ठ नहीं थी, लेकिन 2019 विश्व कप सेमीफाइनल में भी न्यूजीलैंड ने भारत को झटका दिया था. उस हार के बारे में बात करते हुए शास्त्री ने कहा, “हमारा एक और सबसे अच्छा चांस 2019 विश्व कप था. मैं 2021 टी20 विश्व कप की हार से ज्यादा परेशान नहीं हूं, क्योंकि ईमानदारी से कहूं तो हम सबसे अच्छी टीमों में से नहीं थे. लेकिन 2019 (की हार) भी उतनी ही चुभती है. हमारी शुरुआत अच्छी रही थी, लेकिन फिर मैच अगले दिन के लिए खिंच गया.”

हालांकि, शास्त्री का मानना है कि इन दो हार के बावजूद वह अपने कार्यकाल से काफी खुश हैं और अगर कोई 2014 में पहली बार टीम इंडिया के साथ जुड़ने के वक्त उनसे कहता कि 2021 में वह बिना विश्व कप के इतना कुछ हासिल कर लोगे, तो वे कहते कि वह तैयार हैं.