Loading...

टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ ने कहा है कि आने वाले आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के सामने सबसे बड़ी चुनौती ये रहेगी कि वो किस तरह टीम के अनुभवी और उम्रदराज खिलाड़ियों को संभालते हैं।

चेन्नई की टीम में हाल के दिनों में देखा गया है कि वो ज्यादा उम्र के खिलाड़ियों को मैदान पर उतारती है लेकिन फिर भी वो टूर्नामेंट की सबसे मजबूत टीम मानी जाती है और इन्हीं खिलाड़ियों के दम पर उसने 2018 में खिताब भी जीता था।

बांगड़ ने स्टार स्पोर्ट्स के शो पर कहा, “धोनी एक कप्तान के तौर पर, मैं जानता हूं कि उनके पास अच्छा खासा अनुभव है। उनके पास बाकी के अनुभवी खिलाड़ी भी हैं, लेकिन वो कैसे अनुभवी खिलाड़ियों को मैदान पर संभालते हैं मैं इसे देखने के लिए बेसब्र हूं।”

बांगड़ ने कहा कि वो 39 साल के धोनी को किसी और विभाग में परेशान होते नहीं देखते हैं। उन्होंने कहा, “मुझे नहीं लगता कि इन अनुभवी खिलाड़ियों के साथ उन्हें बल्लेबाजी या गेंदबाजी को लेकर किसी तरह की परेशानी आएगी।”

उन्होंने कहा, “टी-20 फॉर्मेट में खिलाड़ी की फुर्ती काफी मायने रखती है और फिल्डिंग एक अहम रोल निभाती है। वह सीनियर खिलाड़ियों को मैदान पर कहां लगाते हैं यह देखना होगा। मुझे लगता है कि कप्तान के तौर पर यह उनका सबसे चुनौतीपूर्ण काम होगा।”

Loading...