Loading...

नई दिल्ली। भारतीय प्रीमियर लीग में अब तक अपनी क्षमता के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर रही विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स ब्योर ने इटली मौरिस और आरोन फिंच को खरीदकर अपनी समस्याओं का समाधान तलाशने की कोशिश की है लेकिन मैदान पर ही पता चलेगा कि ये कितनी कारगर साबित हुई हैं। । कोहली की मौजूदा टीम 2016 के बाद से सबसे स्वाति टीम है जब वह तीसरी बार फाइनल में पहुंची थी लेकिन फिर हार गई थी। आरसीबी ने दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाजी हरफनमौला क्रिस्ट मौरिस पर दस करोड़ रुपये खर्च किए और प्रबंधन को डथ ओवरों में उनसे कसी हुई गेंदबाजी के अलावा निचले क्रम पर आक्रामक बल्लेबाजी की उम्मीद होगी।

2017 में क्रिस गेल के जाने के बाद से आरसीबी की बल्लेबाजी कोहली और एबी डिविलियर्स पर निर्भर रही है लेकिन आस्ट्रेलिया के सीमित ओवरों के कप्तान आरोन फिंच के आने से उन पर दबाव कुछ कम होगा। कोहली अब फिंच के साथ पारी का आगाज कर सकते हैं या तीसरे नंबर पर उतर सकते हैं। ऐसे में पार्थिव पटेल या देवदत्त पडीक्कल के साथ उनकी पारी की शुरूआत करेंगे। स्टार खिलाड़ियों के नहीं चलने पर गुरकीरत सिंह मान और शिवम दुबे जैसे युवाओं की जिम्मेदारी रहेगी।

निचले क्रम पर मौरिस के साथ मोईन अली भी हैं। गेंदबाजी में अली और लेग स्पिनर एडम जाम्पा में से एक को चुना जाएगा। युजवेंद्र चहल और वाशिंगटन सुंदर भी स्पिनरों में शामिल हैं। तेज गेंदबाजों में मौरिस, डेलिनो, नवदीप सैनी, उमेश यादव और मोहम्मद सिराज हैं।

कोचिंग स्टाफ भी नया है जिसमें माइक हसन और सिमोन कैटिच शामिल हैं। आरसीबी के फ्री दुआ कर रहे होंगे कि 13 साल का उनका इंतजार इस बार खत्म हो जाए। आरसीबी को 21 सितंबर को सनराइजर्स हैदराबाद से पहला मैच खेलना है।

टीम: आरोन फिंच, देवदत्त पडीक्कल, पार्थिव पटेल, विराट कोहली, एबी डिविलियर्स, गुरकीरत मान, शिवम दुबे, क्रिस्टियन मौरिस, वाशिंगटन सुंदर, शाहबाज अहमद, नवदीप सैनी, डेलिनो, युजवेंद्र चहल, एडम जाम्पा, इसुआर उडाना, मोई अली जोश फिलीप, पवन नेगी, पवन देशपांडे, मोहम्मद सिराज, उमेश यादव।

Loading...