ICC WTC Final: 14 साल में पहली बार टीम इंडिया में नहीं होगा ये दिग्गज, क्या विराट को खलेगी कमी?

Indian Cricket Team (8)

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल (ICC World Test Championship Final) में न्यूजीलैंड के खिलाफ उतरने को तैयार है. विराट कोहली (Virat Kohli) के नेतृत्व में प्लेइंग इलेवन का ऐलान हो चुका है. अब बस 18 जून को टॉस और फिर मैच शुरू होने की देरी है. टेस्ट चैंपियनशिप का आयोजन पहली बार हो रहा है और भारत ने पहली बार में ही खिताबी मुकाबले के लिए जगह बना ली है. अब विराट कोहली के पास मौका होगा कि वे यह टूर्नामेंट जीतने वाले पहले कप्तान बन जाए. लेकिन इस मैच के दौरान टीम इंडिया में एक कमी होगी जो बहुत से लोगों को खलेगी. पिछले 14 साल में ऐसा पहली बार होगा जब एक बहुत बड़ा खिलाड़ी भारत की ओर से आईसीसी टूर्नामेंट में फाइनल में नहीं खेल रहा है. यह नाम है महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) का.

धोनी संन्यास ले चुके हैं लेकिन 2007 के टी20 वर्ल्ड कप के बाद यह पहला आईसीसी इवेंट है जिसमें भारत ने फाइनल में जगह बनाई है और धोनी टीम में नहीं है. धोनी के टीम में रहते हुए भारत ने साल 2007 से अब तक कुल पांच आईसीसी फाइनल खेले थे. वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप छठा ऐसा आईसीसी इवेंट है जिसमें टीम इंडिया फाइनल में है. धोनी के प्लेइंग इलेवन में रहने के दौरान भारत ने सबसे पहले 2007 में टी20 वर्ल्ड कप का फाइनल खेला और जीत दर्ज की. फिर 2011 का वर्ल्ड कप खेला और जीता.

इसी तरह 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी का फाइनल भी खेला और वह भी जीत लिया. इसके बाद 2014 में वर्ल्ड टी20 में एक बार फिर धोनी की कप्तानी में भारत ने फाइनल खेला. हालांकि इस बार श्रीलंका के हाथों हार मिली. फिर 2017 में विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में गई थी. यहां उसे पाकिस्तान से हार का सामना करना पड़ा था.

टीम फाइनल में है लेकिन धोनी नहीं

अब वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप ही पिछले 14 साल में वह मौका है जब भारतीय टीम आईसीसी इवेंट के फाइनल में है लेकिन धोनी नहीं है. हालांकि इस बीच भारत ने 2015 वर्ल्ड कप में सेमीफाइनल, 2016 टी20 वर्ल्ड कप में सेमीफाइनल और 2019 वर्ल्ड कप में सेमीफाइनल खेला. इन सभी मौकों पर भी धोनी टीम इंडिया के साथ थे. 2015 और 2016 में तो वे कप्तान भी थे. वे इकलौते कप्तान हैं जिन्होंने आईसीसी के तीन टूर्नामेंट जीते हैं. इनमें 2007 टी20 वर्ल्ड कप, 2011 वर्ल्ड कप और 2013 चैंपियस ट्रॉफी शामिल है.

धोनी ने अगस्त 2020 में संन्यास का ऐलान कर दिया था. वहीं टेस्ट क्रिकेट तो उन्होंने 2015 में ही छोड़ दिया था. उनके कप्तानी छोड़ने के बाद से विराट कोहली टीम इंडिया के कप्तान हैं और उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में भारत को एक बड़ी ताकत बनाया है.

ये भी पढ़ें: WTC Final से पहले ऋषभ पंत पर बड़ा खुलासा, कहा- मेरा बैट और सबकुछ ले लो, मैं नहीं खेलना चाहता…