श्रीसंत के दिल से निकली गहरी बात. बोले मैं 10 लाख रूपये के लिए…..

IPL स्पॉट फिक्सिंग मामले में बैन झेल चुके भारतीय तेज गेंदबाज एस. श्रीसंत ने अपने एक बयान से सनसनी मचा दी है. श्रीसंत को साल 2013 में IPL स्पॉट फिक्सिंग मामले में दोषी पाया गया था. एस. श्रीसंत ने एक निजी वेब पोर्टल से बात करते हुए कहा, ‘एक ओवर में 14 से ज्यादा रन चाहिए थे. मैंने 4 गेंदों में केवल 5 रन खर्च किए थे. कोई नो बॉल नहीं, कोई वाइड गेंद नहीं और यहां तक की कोई धीमी गेंद भी नहीं. मेरे पैर पर 12 सर्जरी के बाद भी मैं 130 से भी ज्यादा की रफ्तार से गेंदबाजी कर रहा था. चोट के बाद मैं भारतीय टीम में वापसी की कोशिश में जुटा था. ऐसे में मैं भला ऐसा क्यों करूंगा.’

 

श्रीसंत का सनसनीखेज बयान

श्रीसंत ने कहा, ‘मैंने ईरानी ट्रॉफी में हिस्सा लिया था और मैं अफ्रीका के खिलाफ सीरीज के लिए खुद को तैयार कर रहा था जो कि साल 2013 में सितंबर में होने वाला था. हम जल्दी जा रहे थे. मेरा लक्ष्य था कि मैं उस सीरीज में हिस्सा बनूं. ऐसा इंसान, ऐसा कुछ नहीं करेगा और वो भी 10 लाख रुपये के लिए. मैं बड़ी-बड़ी बातें नहीं कर रहा हूं, लेकिन जब मैं पार्टी करता था तो मेरे उसके बिल करीब 2 लाख रूपये आते थे.’

क्रिकेट जगत में हड़कंप मच गया

साल 2013 में जब राजस्थान रॉयल्स के कुछ खिलाड़ियों का नाम फिक्सिंग में आया था, तब क्रिकेट जगत में हड़कंप मच गया था. इस दौरान जिस खिलाड़ी का नाम सबसे ज्यादा उछला था वो कोई और नहीं बल्कि भारत के तेज गेंदबाज एस श्रीसंत का था. हालांकि श्रीसंत ने अपनी सजा पूरी कर ली है और उन्होंने केरल की ओर से घरेलू क्रिकेट में हिस्सा भी लिया है. श्रीसंत ने आगे बात करते हुए कहा कि मैंने कई लोगों की मदद की है और उनकी दुआओं की वजह से मैं वहां से बाहर निकल पाया. श्रीसंत ने कहा ऐसा कैसे हो सकता है.

MI vs PBKS IPL 2021: कैसी होगी मुंबई इंडियंस-पंजाब किंग्स मैच की पिच और मौसम

श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध हट चुका

बता दें कि श्रीसंत ने 2005 में नागपुर में श्रीलंका के खिलाफ वनडे से इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया था. साल 2007 के टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल में पाकिस्तान के मिस्बाह उल हक का कैच लेने के बाद उनकी लोकप्रियता खूब बढ़ी थी. बाद में वह 2011 में वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम का भी हिस्सा रहे थे. साल 2013 में आरोप लगने के बाद श्रीसंत के साथ दो अन्य खिलाड़ियों, अजीत चंदीला और अंकित चव्हाण को गिरफ्तार किया गया था. आरोपों से मुक्त होने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने साल 2019 में श्रीसंत पर से आजीवन प्रतिबंध हटा दिया था.

श्रीसंत ने कहा, ‘किसी पर आरोप लगाना बहुत बुरी बात है. अगर लोग मुझे कॉल करते और 2013-14 में पूछते, जब 2015 में मैं बाहर आया तो सुप्रीम कोर्ट में 13 अन्‍य लोगों के नाम भी थे. मैं सिर्फ इतना कह सकता हूं कि मैं, मेरा परिवार, दोस्‍त और परिजन सबसे मुश्‍किल समय से गुजरे. मौत के करीब तक. वो अनुभव मौत के बराबर था. अगर वो मेरे और मेरे दोस्‍तों के साथ होता, तो मैं उन 13 दोषियों का नाम नहीं लेता. जब तक यह साबित नहीं हो जाता, मैं किसी एक का नाम नहीं लेता.’

IPL में वापसी कर सकते हैं एस श्रीसंत?

आईपीएल के पहले संस्‍करण में सबसे सफल भारतीय तेज गेंदबाज श्रीसंत 2013 के बाद से प्रतिस्‍पर्धी क्रिकेट से दूर हैं. घरेलू क्रिकेट में वापसी के बाद श्रीसंत ने आईपीएल 2021 नीलामी के लिए अपना पंजीयन कराया था, लेकिन उन्‍हें कोई खरीदार नहीं मिला था. मगर अगले साल मेगा ऑक्‍शन होना है तो श्रीसंत को उम्‍मीद है कि उन्‍हें कोई खरीदार मिलेगा. केरल के तेज गेंदबाज का ध्‍यान आगामी घरेलू सीजन में दमदार प्रदर्शन करने पर है.

स्पोर्ट्स की लेटेस्ट और इंटरेस्टिंग खबरों के लिए यहां क्लिक कर Zee News के Sports Facebook Page को लाइक करें

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.

ट्रेंडिंग वीडियो