Loading...

आयरलैंड के खिलाफ एतेहासिक लॉर्ड्स मैदान में खेले जा रहे एकमात्र टेस्ट मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड की टीम सिर्फ 85 रनों पर ढेर हो गई। मेजबान टीम सिर्फ 23.4 ओवर ही खेल सकी।

तेंज गेंदबाज टिम मुर्ताग की घातक गेंदबाजी (5/13) की बदौलत इंग्लिश टीम खेल के पहले सत्र में ही ऑल आउट हो गई। इसके अलावा मार्क एडेर ने 32/3 और बोएड रैंकिन ने 5 रन देकर 2 विकेट हासिल किए।

इंग्लैंड के लिए नंबर 3 पर बल्लेबाजी करने उतरे जो डेनली ने सबसे ज्यादा 23 रन बनाए। वहीं सैम कुरेन ने 18 रन और ऑली स्टोन ने 19 रन का योगदान दिया। इन तीनों के अलावा इंग्लैंड का कोई भी बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू पाया।

इस पारी के बाद इंग्लैंड के नाम शर्मनाक रिकॉर्ड दर्ज हो गया। अपनी सरजमीं पर यह इंग्लैंड द्वारा खेली गई सबसे छोटी टेस्ट पारी है।

इससे पहले साल 1995 में वेस्टइंडीज के खिलाफ एजबेस्टन स्टेडियम में खेले गए मुकाबले की तीसरी पारी में इंग्लैंड 30 ओवरों में सिर्फ 89 रनों पर ऑलआउट हो गई थी।

गौरतलब है कि इंग्लैंड ने अपने देश में पहला टेस्ट मैच सन् 1884 में खेला था.। इसके बाद यह अब तक की सबसे छोटी पारी है जब एक सत्र खत्म होने से पहले ही टीम ऑलआउट हो गई।

हाल ही में इंग्लैंड की टीम इस लॉर्ड्स मैदान पर ही खेले गए वर्ल्ड कप फाइनल को जीतकर पहली बार चैंपियन बनी है।

Loading...