10 साल का था जब पिता चल बसे, मां ने अस्‍पताल में काम करके पाला, फिर इस भारतीय ने डेब्‍यू मैच में हैट्रिक समेत लिए 9 विकेट

indian cricketer vasant ranjane birthday on this day

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के इस खिलाड़ी की जिंदगी संघर्षों की दास्‍तां है. बेहद गरीब परिवार से ताल्‍लुक रखने वाले इस क्रिकेटर की उम्र तब 10 साल की थी जब उनके सिर से पिता का साया उठ गया था. पिता एक फैक्‍ट्री में काम करते थे. वसंत की मां एक अस्‍पताल में सफाई का काम करती थीं. परिवार की आर्थिक जिम्‍मेदारियों का बोझ मां पर ही था. पैसों की तंगी इतनी थी कि वसंत को सातवीं क्‍लास के बाद ही स्‍कूल छोड़ना पड़ा. बाद में उन्‍होंने भारतीय रेलवे में फिटर की नौकरी शुरू की जो साल 1994 तक जारी रही. हालांकि इससे भी इतनी आय नहीं होती थी जिससे उनके छह बच्‍चों का गुजारा हो सके. इस भारतीय क्रिकेटर का नाम है वसंत रंजने. आज यानी 22 जुलाई को ही इनका जन्‍म हुआ था. साल 1937 का था. अब बताते हैं इनके असाधारण डेब्‍यू के बारे में.

दरअसल, हम वसंत रंजने (Vasant Ranjane) के जिस ऐतिहासिक डेब्‍यू की बात कर रहे हैं वो अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में टीम इंडिया के लिए नहीं, बल्कि रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) में महाराष्‍ट्र के लिए किया गया था. ये बात साल 1956-57 की है. तब महाराष्‍ट्र और सौराष्‍ट्र के बीच मुकाबला खेला गया था. महाराष्‍ट्र के लिए वसंत का ये डेब्‍यू मैच था. पहली ही पारी में उन्‍होंने 35 रन देकर सौराष्‍ट्र के नौ बल्‍लेबाजों को पवेलियन की राह दिखा दी. इसमें एक बेहतरीन हैट्रिक भी शामिल रही. दूसरी पारी में उनके खाते में चार विकेट आए. इस तरह अपने पहले ही रणजी मैच में वसंत ने 71 रन देकर कुल 13 बल्‍लेबाजों को अपना शिकार बनाया. 22 दिसंबर 2011 को पुणे में 74 साल की उम्र में वसंत रंजने का निधन हो गया.

वसंत का पूरा करियर प्रोफाइल यहां मिलेगा

दाएं हाथ के तेज गेंदबाज और दाएं हाथ के बल्‍लेबाज वसंत रंजने ने भारतीय क्रिकेट टीम के लिए 7 टेस्‍ट मैच खेले. इनमें से 9 पारियों में तीन बार नाबाद रहते हुए उन्‍होंने 6.66 की औसत से 40 रन बनाए. इसमें उच्‍चतम स्‍कोर 16 रन का रहा. टेस्‍ट क्रिकेट में एक छक्‍का और एक कैच भी उनके नाम दर्ज है. वसंत ने इन सात टेस्‍ट में 19 विकेट हासिल किए. इनमें पारी में 72 रन देकर 4 विकेट का प्रदर्शन सर्वश्रेष्‍ठ रहा. मैच का सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन उन्‍होंने 153 रन देकर छह विकेट लेकर किया. जहां तक प्रथम श्रेणी क्रिकेट की बात है तो वसंत ने 64 मुकाबले खेले, इनमें उन्‍होंने 175 विकेट हासिल किए. पारी में 35 रन देकर नौ विकेट का प्रदर्शन सबसे शानदार रहा जो उन्‍होंने अपने रणजी डेब्‍यू में ही किया था. उन्‍होंने छह बार पारी में पांच या उससे ज्‍यादा विकेट हासिल किए जबकि मैच में दस या ज्‍यादा विकेट दो बार हासिल किए. इन 64 प्रथम श्रेणी मैचों में 701 रन भी उन्‍होंने बनाए.

भारत के लिए इंग्लैंड से बुरी खबर, विराट कोहली समेत टीम इंडिया के तीन खिलाड़ियों को लगी चोट