सौरभ गांगुली ने जब इस सीरीज में खेलने से किया मना तभी भारत को मिला नया सुपरस्टार खिलाड़ी!

क्रिकेट एक ऐसा खेल है, जिसमें खिलाड़ी अपने प्रदर्शन के आधार पर रातों-रात स्टार बन जाता है। वैसे ही हम बात कर रहे हैं उस टूर्नामेंट के बारे में जिसमें भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने खेलने से मना किया। तभी भारतीय टीम को मिला एक नया सुपरस्टार खिलाड़ी।

हम आपको बता दें कि, साल 2007 में वेस्टइंडीज के खिलाफ ओडीआई वर्ल्डकप टूर्नामेंट में भारतीय टीम पहले चरण से बाहर हो गई थी। और लीग चरण में खेलने गए तीनों मैच में भारतीय टीम को श्रीलंका और बांग्लादेश के हाथों एक बड़ी हार का सामना करना पड़ा।

जिससे भारतीय टीमके सभी खिलाड़ियों को काफी दुख पहुंचा है। और इसी बीच साल 2007 दक्षिण अफ्रीका में टी-20 विश्व कप में भारत को सीनियर खिलाड़ी सौरभ गांगुली, राहुल द्रविड़ और सचिन तेंदुलकर जैसे बड़े खिलाड़ी इस टूर्नामेंट से अपना नाम वापस ले लिया। तभी इस टी-20 के बड़े टूर्नामेंट में भारत की कमान संभालने के लिए महेंद्र सिंह धोनी ज्योति विकेटकीपर के रूप में रहे थे।

महेंद्र सिंह धोनी ने साल 2007 विश्वकप टी-20 मुकाबले में अपनी बेहतरीन कप्तानी की बदौलत इतिहास रच कर ट्राफी को जीत लिया और धीरे-धीरे महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी कप्तानी को और अनुभव बना लिया जिसके द्वारा भारत के एक सबसे बड़े कप्तानों में माने जाने लगे हैं। और यही नहीं उन्होंने अपनी कप्तानी की बदौलत भारत को 3 बड़े खिताब जिताने में अहम योगदान दिया।

आपके अनुसार महेंद्र सिंह धोनी भारत के लिए कैसे कप्तान रहे हैं ?