Loading...

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।

फाइनल में अंपायरों से हुई गलती’

आपको बता दें कि पूर्व दिग्गज अनुभवी अंपायर साइमन टॉफेल (Simon Taufel) ने भी फाइनल के नाटकीय मैच मे अंपायरिंग कर रहे अंपायर कुमार धर्मसेना और मरे इरासमस के इस फैसले को पूरी तरह से गलत बताया है। टॉफेल ने ये भी बताया कि ओवर थ्रो से जुड़े नियम क्या हैं?

ओवर थ्रो में 6 रन देना भी गलत’

टॉफेल ने बताया कि इस नियम के अनुसार थ्रो फेकने से पहले दोनों खिलाड़ियों को क्रॉस कर लेना चाहिए, जो कि इस मामले में नही हुआ था, लेकिन इस पर अंपायरों का ध्यान नही गया और अंपायरों ने इंग्लैंड को 5 के बजाय 6 रन दे दिये, जिसका हर्जाना कीवी टीम को भुगतना पड़ा और मैच टाई पर खत्म हुआ। अगर वो एक रन बच जाता, तो इंग्लैंड को अंतिम गेंद पर 3 रनों की जरूरत होती, जिसे बना पाना इंग्लैंड के लिए बेहद मुश्किल होता।

5 बार के सर्वश्रेष्ठ अंपायर हैं टॉफेल

विश्व क्रिकेट में साइमन टॉफेल को कौन नहीं जानता। जिनके अंपायरिंग को कई खिलाड़ी बेस्ट अंपायरिंग भी मानते हैं। टॉफेल के बारे मे अधिकतर क्रिकेट फैंस जानते होंगे, लेकिन बेहद कम लोग ही जानते हैं कि अंपायरिंग के इतिहास मे उनका इतिहास बेहद शानदार रहा है। वे साल 2004 से लेकर साल 2008 तक लगातार 5 बार आईसीसी के सर्वश्रेष्ठ अंपायर चुने जा चुके है। उन्हें 74 टेस्ट, 174 वन डे और 34 टी-20 क्रिकेट मैचों मे अंपायरिंग करने का अनुभव है। वे दुनिया के सर्वश्रेष्ठ अंपायरों मे से एक थे और फिलहाल वे अंपायरिंग को अलविदा कह चुके हैं।

Loading...