Loading...

मोहम्मद आमिर पाकिस्तान कि टीम के सबसे शानदार गेंदबाजों में से एक रहे है। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी है। आमिर ने मात्र 27 साल की उम्र में ही टेस्ट से संन्यास लेने का बड़ा फैसला लिया है।

मात्र 17 साल की उम्र में मोहम्मद आमिर ने 2009 में श्रीलंका के खिलाफ अपना टेस्ट डेब्यू किया था। शानदार प्रदर्शन करने के बाद 2011 में स्पॉट फिक्सिंग के कारण उन्हें बैन कर दिया था। उसके बाद 5 सालो के बाद आमिर ने 2016 में फिर से वापसी की थी।

आमिर ने कहा,”पाकिस्तान का टेस्ट क्रिकेट में प्रतिनिधित्व करना बहुत ही गर्व की बात रही है। लेकिन अब मैंने टेस्ट से संन्यास लेने का फैसला कर लिया है, ताकि में लिमिटेड ओवर में ध्यान दे सकता हूं।”

“पाकिस्तान के लिए खेलना मेरी तीव्र इच्छा है और में पूरी मेहनत करता रहूंगा की हमेशा फिट रह सकू, ताकि आने वाले मैचों ने पाकिस्तान के लिए अच्छा प्रदर्शन करू, खासकर 2020 में आने वाला टी20 विश्व कप,” उसने कहा।

मोहम्मद आमिर ने 36 टेस्ट मैच खेले है और 119 विकेट चटकाए है। उसका औसत 30.47 का रहा है और सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 6/44 का रहा है। बैन होने से पहले आमिर ने 14 मैच खेले थे और 29.09 की औसत से 51 विकेट चटकाए थे। मोहम्मद आमिर विश्व कप 2019 में शानदार प्रदर्शन कर चुके है और 17 विकेट लिए थे।

आमिर का मानना था कि पाकिस्तान टीम में इस समय बहुत ही शानदार युवा तेज गेंदबाज मौजूद है। ऐसे में वह अगर संन्यास ले लेते है तो टी20 विश्व कप में टीम में किन खिलाड़ियों को मौका देना है, यह चयनकर्ताओं के लिए साफ हो जाएगा।

क्या आमिर को इतने जल्दी संन्यास लेना चाहिए था? कमेंट करके हमें ज़रूर बताए।

Loading...