भारत ने रोमांचक मैच में वेस्‍टइंडीज को कराया हार का सामना , सीरीज की अपने नाम

कटक: कप्तान विराट कोहली (85) और केएल राहुल (77) और रोहित शर्मा (63) की शानदार पारियों की बदौलत टीम इंडिया ने रविवार को तीसरे और आखिरी वनडे में वेस्टइंडीज को 4 विकेट से हरा दिया। इसके साथ, भारतीय टीम ने तीन मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला 2-1 से जीती। कटक के बाराबती स्टेडियम में, भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीता और कैरेबियाई टीम को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। वेस्टइंडीज ने निर्धारित 50 ओवरों में 5 विकेट खोकर 315 रन बनाए। जवाब में भारतीय टीम ने 48.4 ओवर में 6 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया। भारतीय टीम की जीत के दौरान रवींद्र जडेजा (39 *) और शार्दुल ठाकुर (17 *) क्रीज पर मौजूद थे।

इसी के साथ भारत ने जीत के साथ साल और दशक का अंत किया। टीम इंडिया ने इससे पहले तीन मैचों की टी 20 अंतर्राष्ट्रीय श्रृंखला में कैरेबियाई टीम को 2-1 से हराया था। भारतीय टीम ने वेस्टइंडीज के खिलाफ लगातार 10 वीं वनडे सीरीज जीती। कटक के बाराबती स्टेडियम में, भारतीय टीम ने सबसे बड़े लक्ष्य का पीछा करने का रिकॉर्ड बनाया। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कटक में अपने प्रदर्शन में सुधार किया और एक अच्छी पारी खेली और टीम इंडिया को श्रृंखला जीत दिलाई। भारतीय कप्तान ने अपनी पारी के दौरान 13,000 लिस्ट ए रन पूरे किए। इसके अलावा, वह मौजूदा वर्ष में 1300 से अधिक एकदिवसीय रन बनाने वाले दुनिया के एकमात्र कप्तान बन गए। यही नहीं, कोहली इस साल क्रिकेट के सभी प्रारूपों में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी भी बन गए।

भारत ने किया दमदार आगाज

लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम ने दमदार आगाज किया। पारी की शुरुआत करने आए रोहित शर्मा और केएल राहुल ने एक बार फिर बड़ी साझेदारी की। दोनों ने पहले विकेट के लिए 122 रन जोड़े। यह साझेदार हर ओवर के साथ खतरनाक हो रही थी लेकिन जेसन होल्डर ने रोहित को आउट कर अपनी टीम राहत दी। रोहित 22वें ओवर की दूसरी गेंद पर गलत शॉट खेल बैठे और विकेट के पीछे शाई होप के हाथों लपके गए। उन्होंने 77 गेंदों में 8 चौकों के जरिए 66 रन बनाए। उनके वनडे करियर की यह 43वीं अर्धशतकीय पारी थी। रोहित ने दूसरे वनडे मैच में भी टिककर बल्लेबाजी की थी। उन्होंने विशाखापट्टनम में खेले गए मैच में 159 रन बनाए थे। इसके अलावा उन्होंने पहले वनडे में 36 रन की पारी खेली थी।

फिर चला केएल राहुल का बल्ला

सलामी बल्लेबाज केएल राहुल का बल्ला एक फिर चला है। पिछले मैच में 102 रन बनाने वाले राहुल ने अब शानदार अर्धशकीय पारी खेली। उन्होंने 89 गेंदों में 77 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 8 चौके और 1 छक्के जमाया। उनके वनडे करियर का यह पांचवां अर्धशतक है। अर्धशतक पूरे होने के बाद लग रहा था कि राहुल दोबारा फिर शतक जड़ देंगे लेकिन अल्‍जारी जोसेफ के ओवर में एक गलती उन्हें भारी पड़ गई। वह 30वें ओवर की पांचवीं गेंद पर शॉट लगाना की कोशिश कर रहे मगर गेंद बल्ले से लगा विकेटकीपर होप के दस्तानों में समा गई। उन्होंने कप्तान विराट कोहली के साथ दूसरे विकेट के लिए 45 रन की साझेदारी की। राहुल का विकेट 167 के कुल स्कोर पर गिरा।

सस्ते में पवेलियन लौटे अय्यर, पंत और जाधव

दूसरे वनडे में तूफानी बल्लेबाजी करने वाले श्रेयस अय्यर और रिषभ सस्ते में अपना विकेट गंवा बैठे। दोनों महज 7 के निजी स्कोर पर पवेलियन लौट गए। दोनों को कीमो पॉल ने अपना शिकार बनाया। अय्यर 33वें ओवर की तीसरी गेंद पर फाइन लेग की दिशा में शॉट मारने की फिराक में थे। लेकिन अल्‍जारी जोसेफ ने शानदार कैच पकड़कर उनकी पारी का अंत कर दिया। वहीं, पंत ने 35वें ओवर की आखिरी गेंद पर गलत शॉट खेला जिसके बाद गेंद विकेटों में घुस गई। अय्यर का विकेट 188 जबकि पंत का विकेट 201 के कुल स्कोर पर गिरा। अय्यर ने पिछले मैच में 32 गेंदों में 3 चौकों और 4 छक्कों की मदद से 53 रन बनाए थे। वहीं, पंत ने 16 गेंदों में 3 चौकों और 4 छक्कों की बदौलत 36 रन ठोक दिए थे। केदार जाधव (9) भी कुछ खास नहीं कर सके और शेल्‍डन कॉट्रेल की गेंद पर क्‍लीन बोल्‍ड होकर पवेलियन लौट गए।

कोहली-जडेजा की अहम साझेदारी

यहां से कप्‍तान विराट कोहली और रवींद्र जडेजा ने भारतीय पारी को संवारा। दोनों ने छठें विकेट के लिए 58 रन की साझेदारी करके भारतीय टीम की वापसी कराई। कप्‍तान कोहली बहुत अच्‍छे से पारी को आगे बढ़ा रहे थे, लेकिन कीमो पॉल की गेंद पर वह कट एंड बोल्‍ड हो गए। दाएं हाथ के बल्‍लेबाज ने 81 गेंदों में 9 चौके की मदद से 85 रन बनाए। कोहली के आउट होते ही मुकाबला रोमांचक हो गया। फिर शार्दुल ठाकुर ने जडेजा के साथ मिलकर भारत की जीत पर मुहर लगाई। वेस्‍टइंडीज की तरफ से कीमो पॉल ने सबसे ज्‍यादा तीन विकेट चटकाए। शेल्‍डन कॉट्रेल, जेसन होल्‍डर और अल्‍जारी जोसेफ को एक-एक सफलता मिली।

वेस्टइंडीज की अच्छी शुरुआत

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी वेस्टइंडीज की टीम ने अच्छी शुरुआत की। पारी का आगाज करने आए एविन लुईस और शाई होप ने पहले विकेट के लिए 57 रन की साझेदारी की। दोनों सलामी बल्लेबाजों ने डटकर भारतीय गेंदबाजों का सामना किया। हालांकि, यह साझेदारी 15 ओवर से ज्यादा नहीं चल सकी। विंडीज को पहले झटका 15वें ओवर की आखिरी गेंद पर रवींद्र जडेजा ने दिया। जडेजा ने लुईस को अपना शिकार बनाया। लुईस शॉट मारने की फिराक में थे लेकिन नवदीप सैनी के हाथों लपके गए। उन्होंने 50 गेंदों में 3 चौकों की मदद से 21 रन बनाए।

इसके बाद विंडीज को दूसरा झटका होप के रूप में लगा। होप को 20वें ओवर की चौथी गेंद पर तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने पवेलियन की राह दिखाई। वह शमी की गेंद को पिच पर पड़ने के बाद भांप नहीं पाए और बोल्ड हो गए। उन्होंने 50 गेंदों में 42 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 5 चौके जमाए। होप का विकेट 70 के कुल स्कोर पर गिरा। बता दें कि दोनों सलामी बल्लेबाजों ने दूसरे वनडे में भी विंडीज को शानदार शुरुआत दिलाई थी। लुईस (30) और होप (78) ने विशाखापट्टनम वनडे में पहले विकेट के लिए 61 रन जोड़े थे।

अर्धशतक से चूके चेस और हेटमायर

वेस्टइंडीज को तीसरा झटका रोस्‍टन चेस के तौर पर लगा। लुईस के आउट होने के बाद क्रीज पर आए चेस ने टिककर बल्लेबाजी की। हालांकि, वह अपना अर्धशतक पूरा नहीं कर सके। उन्होंने 48 गेंदों में 38 रन की पारी खेली। उन्होंने अपनी पारी में 3 चौके मारे। चेस ने तीसरे विकेट के लिए शिमरॉन हेटमायर के साथ 62 रन की पार्टनरशिप भी की। एक वक्त लग रहा था कि दोनों की यह साझेदारी लंबी चलेगी लेकिन डेब्यूटेंट तेज गेंदबाज नवदीप सैनी ने 30वें ओवर की दूसरी गेंद पर चेस को पवेलियन भेजकर भारतीय खेमे को खुश होने का मौका दे दिया। वह सैनी की गेंद पर पूरी तरह चूक गए और बोल्ड हो गए।

चेस का विकेट गिरने के बाद हेटमायर भी जल्द ही पवेलियन लौट गए। उन्हें भी सैनी ने अपना शिकार बनाया। वह 32वें ओवर की तीसरी गेंद पर बड़ा शॉट मारना चाहते थे लेकिन फाइन लेग पर कुलदीप यादव के हाथों लपके गए। हेटमायर भी अर्धशतक ने जड़ सके और 37 रन बनाकर आउट हो गए। उन्होंने अपनी पारी में 2 चौके और 2 छक्के जमाए। उनका विकेट 144 के कुल स्कोर पर गिरा।

निकोलस पूरन ने खेली तूफानी पारी

निकोलस पूरन का शानदार फॉर्म जारी है। पिछले दो मैचों में प्रभावी बल्लेबाजी करने वाले पूरन ने एक बार फिर तूफानी पारी खेली। हेटमायर के आउट होने के बाद पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए पूरन ने 64 गेंदों में 89 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 10 चौके और 3 छक्के लगाए। उन्होंने शुरू में थोड़ी धीमि गति से रन बनाए लेकिन एक मर्तबा रफ्तार पकड़ने के बाद जमकर गेंद को बाउंड्री के बाहर भेजा। पूरन ने 43 गेंदों में अपने वनडे करियर का पांचवां अर्धशतक पूरा किया। इसके बाद उन्होंने तेजी से रन बनाए लेकिन शतक के करीब पहुंचकर विकेट गंवा बैठे।

पूरन को शार्दुल ठाकुर ने 48वें ओवर की पांचवीं गेंद पर रवींद्र जडेजा के हाथों लपकवाया। उनका विकेट 279 के कुल स्कोर पर गिरा। कैरेबियाई टीम जब 144 रन पर 4 विकेट गंवाकर संघर्ष कर रहे थी तब पूरन ने कप्तान कीरोन पोलार्ड के साथ मोर्चा संभाला। दोनों ने 5 विकेट के लिए 35 रन की मजबूत पार्टनरशिप की और बड़ा स्कोर खड़ा करने में अहम भूमिका निभाई। पूरन का मौजूदा वनडे सीरीज में बल्ला जमकर बोल रहा है। उन्होंने पहले मैच में जहां नाबाद 29 रन बनाए वहीं दूसरे मैच में 75 रन की पारी खेली थी।

 

 

 

 

दोनों टीमें फिलहाल सीरीज में 1-1 की बराबरी पर हैं। भारतीय टीम इस निर्णायक मैच को जीतकर सीरीज कब्जाने के इरादे से मैदान पर उतरी है। भारत अगर कैरेबियाई टीम को कटक वनडे में हरा देती है तो विंडीज के खिलाफ उसकी यह लगातार 10वीं द्विपक्षीय सीरीज जीत होगी। वहीं, कैरेबियाई टीम भारत से तीन मैचों की टी20 सीरीज हारने के बाद वनडे सीरीज जीतना चाहेगी। विंडीज ने चेन्नई में खेला गया पहले वनडे 8 विकेट से जीता था लेकिन उसे विशाखापट्टन में हुए दूसरे वनडे में 107 रन से करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा।

अब मेहमान टीम तीसरे वनडे में जीत की राह पर लौटने की कोशिश करेगी। वेस्टइंडीज टीम इस प्रयास में होगी कि भारत से 13 साल बाद कोई द्विपक्षीय सीरीज जीत सके। मार्च में ऑस्ट्रेलिया से द्विपक्षीय श्रृंखला हारी भारतीय टीम ने पिछले 15 साल में लगातार दो द्विपक्षीय सीरीज नहीं गंवाई है। बाराबाती स्टेडियम में भारतीय टीम का रिकॉर्ड अब तक शानदार रहा है। भारत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ अभी तक यहां तीन मैच खेले हैं और तीनों में उसने कैरेबियाई टीम को धूल चटाई है। इसके अलावा भारत ने इस स्टेडियम में अब तक 16 वनडे मैच खेले हैं और इसमें उसने 12 मैचों में जीत हासिल की है जबकि चार में उसे हार का सामना करना पड़ा।

प्लेइंग इलेवन

भारत: विराट कोहली (कप्‍तान), रोहित शर्मा, केएल राहुल, श्रेयस अय्यर, रिषभ पंत (विकेटकीपर), केदार जाधव, रवींद्र जडेजा, कुलदीप यादव, नवदीप सैनी, शार्दुल ठाकुर और मोहम्‍मद शमी।

वेस्‍टइंडीज: कीरोन पोलार्ड (कप्‍तान), शाई होप (विकेटकीपर), एविन लुईस,  शेमरॉन हेटमायर, निकोलस पूरन, रोस्‍टन चेज, जेसन होल्‍डर, कीमो पॉल, अल्‍जारी जोसेफ शेल्‍डन कॉट्रेल और खैरी पियरे।