Loading...

भारतीय टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी इन दिनों अपने संन्यास की खबरों को लेकर सुर्खियों में छाए हुए हैं। हालांकि महेंद्र सिंह धोनी T-20 वर्ल्ड कप 2020 तक संन्यास नहीं लेने वाले हैं। महेंद्र सिंह धोनी ने बीसीसीआई से 2 महीने की छुट्टी मांगी है क्योंकि वह आर्मी की ट्रेनिंग लेना चाहते हैं। 31 जुलाई से महेंद्र सिंह धोनी आर्मी में जाकर ट्रेनिंग लेंगे।

हालांकि इस बीच महेंद्र सिंह धोनी से जुड़ी बहुत ही चौका देने वाली खबर सामने आई है। महेंद्र सिंह धोनी बहुत ही बड़े गुनाह में फंस चुके हैं। आम्रपाली ग्रुप से बाहर हो जाने के बावजूद भी महेंद्र सिंह धोनी विवादों में घिर चुके हैं। महेंद्र सिंह धोनी पर आम्रपाली बिल्डर के साथ लेनदेन पर गंभीर आरोप लगाए गए हैं। सुप्रीम कोर्ट ने अपने निर्णय में महेंद्र सिंह धोनी और उनकी पत्नी साक्षी धोनी का नाम भी लिखा है।

कोर्ट ने अपने फैसले को 270 पेज में लिखा जिसमें बताया गया कि कई ऐसी कंपनियां बनाई गई जिन से पैसा इधर से उधर हुआ। अम्रपाली माही डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड भी उन कंपनियों में शामिल है। यह धोनी की कंपनी थी जिसकी डायरेक्टर साक्षी धोनी हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने अपने निर्णय में यह भी कहा कि इस कंपनी को शेयर केपिटल के साथ सभी खर्चे कैश के रूप में दिए गए जिस कारण फंड इधर से उधर हुआ। जबकि धोनी को सिर्फ 3 दिन तक आने के लिए 6.5 करोड़ रुपए का भुगतान रिद्धि स्पोर्ट्स के जरिए हुआ। सुप्रीम कोर्ट ने अपने निर्णय में कहा कि जिनको भी गलत तरीके से पैसे मिले हैं उनको वह पैसे लौटाने होंगे।

Loading...