Loading...

नई दिल्ली:

बता दें कि धोनी इस विश्वकप में अपनी स्लो बैटिंग की वजह से फैन्स के निशान पर थे. सेमीफाइनल मैच में उन्होंने एक ऐसी पारी खेली जिसे पूरा देश याद तो रखेगा लेकिन उस रन आउट को भी शायद कोई नहीं भुला पाए. धोनी के आउट होते ही सभी समझ गए थे कि अब भारत हार के कगार पर है. एक तरफ जहां कई फैंस और पूर्व क्रिकेटर धोनी का सपोर्ट कर रहे हैं तो वहीं 38 साल के पूर्व ऑस्ट्रेलियाई विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट ने धोनी की तारीफ की है. एमएस धोनी ने कल 50 रनों की बेहतरीन पारी खेली लेकिन अंत में टीम सिर्फ 18 रन पीछे रह गई.

जहां एक तरफ उनके सन्यास लेने को लेकर कयास लगाए जा रहे हैं तो वहीं अब गिलक्रिस्ट ने कहा कि, ”मुझे नहीं पता कि आप आगे कब तक खेलोगे लेकिन आपने जितना भी खेल को दिया उसके लिए आपका बहुत शुक्रिया. मैं आपके धीरज रखने के तरीके और खुद में विश्वास का कायल हूं.” गिलक्रिस्ट ने इसके बाद एक और मैसेज दिया और भारतीय फैंस से आग्रह किया कि वो कोहली एंड कंपनी के साथ बुरा बर्ताव न करें. उन्होंने भारतीय टीम को नंबर 1 टीम बताया.

बता दें कि सेमीफाइनल मैच में महेंद्र सिंह धोनी का रनआउट होना टीम इंडिया के लिए निर्णायक साबित हुआ. वे 49वें ओवर की तीसरी गेंद पर रन आउट हुए. उनके आउट होने के बाद भारत को जीत के लिए 9 गेंद पर 24 रन चाहिए थे. धोनी के आउट होने के बाद भुवनेश्वर कुमार और युजवेंद्र चहल क्रीज पर थे. जाहिर है, इन दोनों से जीत दिलाने की उम्मीद करना कुछ ज्यादा ही था. हां, अगर धोनी क्रीज पर होते तो जीत संभव थी.

Loading...