Loading...

भारत और न्यूजीलैंड के बीच मैनचेस्टर में खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले में न्यूज़ीलैंड ने भारत को 18 रन से हराकर लगातार दूसरी बार आईसीसी विश्व कप के फाइनल में जगह बना ली। आपको बता दे कि न्यूज़ीलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 8 विकेट के नुकसान पर 239 रन बनाए थे।

जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम शुरुआत से ही दबाव में दिखी और 3 गेंद शेष रहते हुए 221 रन पर ऑलआउट हो गयी।

भारत भले ही यह मैच हार गया लेकिन टीम इंडिया के ऑलराउंडर बल्लेबाज सर रवींद्र जड़ेजा ने सबका दिल जीत लिया जिसके बाद कप्तान विराट कोहली ने खुद उनकी तारीफ की हैं।

कोहली ने की जड़ेजा की जमकर तारीफ

आपको बता दे कि जब रवींद्र जड़ेजा क्रीज पर बल्लेबाजी करने आये थे तो भारत का स्कोर था 92 रन पर 6 विकेट और लगभग 31 ओवर हो चुके थे। अब भारत को जीतने के लिए 19 ओवर में 148 रन की जरूरत थी।

जड़ेजा ने शुरुआत से ही दबाव को अपने ऊपर हावी नहीं होने दिया और एम एस धोनी के साथ मिलकर सातवें विकेट के लिए 116 रन जोड़े। 116 में से 77 रन तो जड़ेजा के अकेले थे। जड़ेजा ने 59 गेंदों का सामना करते हुए 4 चौके और 4 छक्के की मदद से 77 रन बनाए।

हालांकि जड़ेजा मैच को अंत तक नहीं ले जा पाए और भारत मैच हार गयी। परन्तु कप्तान विराट कोहली ने मैच हारने के बाद भी रवींद्र जड़ेजा के बारे में कहा कि इन्होंने बहुत ही शानदार खेल खेला।

साथ ही उन्होंने कहा कि जड़ेजा ने सभी क्षेत्रों में अपना पूरा योगदान दिया और अपनी पॉजिटिविटी को दर्शाया। कोहली ने कहा कि जड़ेजा की धोनी के साथ साझेदारी बहुत ही जबरदस्त थी।

Loading...