टीम इंडिया में भेदभाव! बुमराह के लिए सौरव गांगुली ने बदले भारतीय क्रिकेट के नियम

चोटिल होकर लंबे समय से टीम से बाहर चल रहे जसप्रीत बुमराह अपनी फिटनेस परखने के लिए रणजी ट्रॉफी खेलने वाले थे, लेकिन BCCI चीफ सौरव गांगुली के हस्तक्षेप के बाद अब जस्सी अब सीधा श्रीलंका के खिलाफ टी-20 इंटरनेशनल सीरीज से ही वापसी करेंगे।
दरअसल, स्ट्रैस फ्रैक्चर के कारण लंबे समय से टीम से बाहर चल रहे बुमराह गुजरात और केरल के बीच होने वाले रणजी ट्रॉफी मुकाबले में खेलने वाले थे। हालांकि अब वह एलीट ग्रुप ‘ए’ के इस मैच में नहीं खेलेंगे जो गुरुवार से लालाभाई कॉन्ट्रेक्टर स्टेडियम, सूरत में खेला जाएगा। तीन महीने के ब्रेक के बाद बुमराह को मैच खेलने में कोई समस्या नहीं थी।

इस गेंदबाज ने बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली और सचिव जय शाह को अपनी परेशानी से अवगत कराया था, हालांकि इन दोनों ने बुमराह को फिलहाल सफेद बॉल क्रिकेट पर ध्यान देने को कहा है। गुजरात के कप्तान पार्थिव पटेल ने भी पुष्टि की है कि बुमराह सूरत में हो रहे मुकाबले में नहीं खेलेंगे।

भारतीय तेज गेंदबाजी लाइनअप के अगुवा ने बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली और सचिव जय शाह को अपनी परेशानी बताई थी, जिसके बाद दोनों ने भी बुमराह को फिलहाल सफेद बॉल क्रिकेट पर ध्यान देने को कहा।

सूत्रों ने यह भी कहा कि राष्ट्रीय चयन समिति ने गुजरात टीम मैनेजमेंट को सलाह दी है कि चूंकि बुमराह चोट से उबर रहे हैं इसलिए उन्हें एक दिन में अधिक से अधिक आठ ओवर ही गेंदबाजी करने दी जाए। गुजरात टीम मैनेजमेंट भी इस बात से परेशान थी कि वह एक ऐसे गेंदबाज को टीम में कैसे मौका दो जो अधिकतम आठ ओवर ही गेंदबाजी कर सके, इससे टीम के लक्ष्य की पूर्ति भी नहीं होती।

सूत्र ने कहा कि सब बातों के साथ, ‘गांगुली और भारतीय टीम प्रबंधन और कप्तान विराट कोहली इस बात पर एकराय हैं।’ बुमराह को नए साल से श्रीलंका के खिलाफ खेली जाने वाली तीन टी-20 मैचों की सीरीज के लिए भारतीय टीम में चुना गया है। वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली जाने वाली तीन मैचों की वनडे सीरीज में भी हिस्सा लेंगे।