Loading...

गुरुवार को इंग्लैंड की टीम ने ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से हराकर फाइनल में पहुँच चुकी है। 1992 के बाद यह पहला मौका है जब क्रिकेट का जनक माने जाने वाला इंग्लैंड विश्व कप के खिताबी मुकाबले में पहुंचा है। 44 साल के इस टूर्नमेंट को इंग्लैंड ने कभी नहीं जीता है। रविवार को इंग्लैंड की टीम का मुकाबला न्यूजीलैंड की टीम से होगा जो कि लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंची है।

आपको बता दें कि इंग्लैंड की टीम इससे पहले भी तीन बार फाइनल में प्रवेश कर चुकी है लेकिन तीनों बार वर्ल्ड कप की जगह निराशा और हार ही हाथ लगी है। इंग्लैंड तीसरी बार 1992 में फाइनल में पहुंचा था। ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में हुए इस फाइनल मुकाबले को वसीम अकरम की उन दो गेंदों के लिए याद किया जाता है जिनमें उन्होंने एलन लैंब और क्रिस लुईस को आउट किया था। अहम पड़ाव पर मिले इन दो विकेटों ने इंग्लैंड को खिताब से दूर किया और पाकिस्तान पहली बार विश्व चैंपियन बना। यह मुकाबला इंग्लैंड 22 रनों से हार गई थी।

इसके बाद इंग्लैंड 1987 के फाइनल में कोलकाता में खेला था। जहां उसे आस्ट्रेलिया ने 7 रन से करारी शिकस्त दी थी। इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने निर्धारित 50 ओवरों में पांच विकेट पर 253 रन बनाए। और जवाब में इंग्लैंड तमाम कोशिशों के बावजूद 8 विकेट पर 246 रन ही बना पाया।

1979 में वेस्टइंडीज से हारा था इंग्लैंड, इस मैच में वेस्टइंडीज ने निर्धारित 60 ओवरों में 9 विकेट पर 286 रन बनाए। रिचर्डस 138 रन बनाकर नाबाद रहे। एक समय था जब इंग्लैंड का स्कोर दो विकेट पर 183 रन था। लेकिन इसके बाद जो गार्डन का शो शुरू हुआ। उन्होंने कुल 5 विकेट लिए और लिए। इंग्लैंड की पूरी टीम 194 रनों पर आउट हो गई। वेस्टइंडीज ने या मैच 92 रनों से जीत लिया।

Loading...