Loading...

वेस्टइंडीज दौरे पर गए हरफनमौला खिलाड़ी ऑलराउंडर क्रुणाल पांड्या ने कहा कि वह कप्तान विराट कोहली से जीत का जज्बा और विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी से धैर्य रखना सीखना चाहते हैं। वेस्टइंडीज के खिलाफ पिछले साल 4 नवंबर को टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने वाले क्रुणाल ने अब तक 11 मैचों में 11 विकेट लिए हैं, जिसमें पांच पारियों में 23 के औसत से 70 रन भी बनाए।

कप्तान कोहली की भावना से प्रभावित होकर कुणाल ने कहा, मैं विराट से सीखना चाहूंगा कि लगातार अच्छा करने की भूख कैसे बरकरार रखी जाती है। वह कैसे हर प्रारूप में इतना निरंतर प्रदर्शन करते हैं। हर मैच में वह शून्य से शुरू करते हैं फिर काफी रन बनाते हैं और टीम को जीत दिलाते हैं। उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी के बारे में बीसीसीआई टीवी को बताया, माही भाई की तरह फिनिशर भारतीय क्रिकेट के इतिहास में कोई नहीं है। मेरे अनुसार विश्व क्रिकेट में ऐसा कोई नहीं है। उन्होंने लगातार ऐसा कर के दिखाया है। मुझे लगता है कि उनके पास धैर्य और परिस्थितियों के अनुसार खेलने की क्षमता है। मैं माही भाई और विराट से इन दोनों चीजों को सीखने की कोशिश करूंगा।

आपको बता दूं कि क्रुणाल भारत ए टीम के साथ वेस्ट इंडीज के दौरे पर गए हैं जहां उन्होंने अपने हरफनमौला खेल से प्रभावित किया। उन्होंने वेस्टइंडीज ए के खिलाफ तीन एक दिवसीय मैचों में सात विकेट लिए, जिसमें पारी में पांच विकेट भी शामिल है। उन्हें बल्लेबाजी का ज्यादा मौका नहीं मिला लेकिन उन्होंने सीरीज के चौथे मैच में 45 रन बनाए।

फॉलो करके मेरा उत्साह बढ़ाने में मेरी मदद करें, जिससे मैं आपके लिये और अच्छीे मनोरंजक एंव हास्यप्रद तस्वीरें ला सकू।

Loading...