Loading...

जनरल रावत ने एनडीटीवी से बातचीत में कहा कि एमएस धोनी सेना के साथ अपनी ड्यूटी निभाने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

नई दिल्ली।

इसी बीच एमएस धोनी की सुरक्षा को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं। IS बारे में शुक्रवार को थल सेनाध्‍यक्ष जनरल बिपिन रावत ने कहा कि धोनी को सुरक्षा की जरूरत नहीं है वह तो जनता की सेवा करेंगे।

जनरल रावत ने एनडीटीवी से बातचीत में कहा कि एमएस धोनी सेना के साथ अपनी ड्यूटी निभाने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। किसी भी अन्‍य सैनिक की तरह एमएस धोनी एक रक्षक की भूमिका निभाएंगे। उन्‍होंने कहा, ‘जब एक भारतीय नागरिक सेना की वर्दी पहनता है तब उसे वर्दी से जुड़े काम को पूरा करने के लिए तैयार रहना होता है। एमएस धोनी ने अपनी बेसिक ट्रेनिंग कर ली है और हमें पता है कि वह अपना काम पूरा करेंगे।

जनरल रावत ने कहा, ‘सच कहूं तो वह कई सारे लोगों को बचाएंगे क्‍योंकि अब वह 106 टेरिटोरियल आर्मी बटालियन (पैरा) के साथ काम करेंगे। यह काफी अच्‍छी बटालियन है और वे कम्‍युनिकेशन ड्यूटी, स्‍टेटिक प्रोटेक्‍शन की जिम्‍मेदारी संभाल रहे हैं। धोनी इसी का हिस्‍सा होंगे। मुझे नहीं लगता कि हमें उन्‍हें सुरक्षा देने की जरूरत है, वे नागरिकों की रक्षा करेंगे और अपने काम को पूरी तरह से निभाएंगे। उन्‍होंने कहा कि धोनी पेट्रोलिंग, गार्ड और पोस्‍ट ड्यूटी की जिम्‍मेदारियां संभालेंगे। वे किसी सामान्‍य जवान की तरह ही रहेंगे।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

बता दें कि एमएस धोनी ने अपनी यूनिट के साथ काम करने के लिए क्रिकेट से दो महीने का आराम लिया है। 2015 में आगरा ट्रेनिंग कैंप में सेना के विमान से पांच पैराशूट जंप लगाकर वे क्‍वालिफाइड पैराट्रूपर बन गए थे।

Loading...