Loading...

2008 में इंडियन प्रीमियर लीग शुरू होने के बाद से, आठ टीमें लगातार इसमें शामिल रही हैं, लेकिन खबरों के मुताबिक, अब 2021 में दो और टीमें टूर्नामेंट में भाग ले सकती हैं। आइए जानते हैं कौन है वो दो टीमें। IPL में एक बार फिर से इसे 8 से 10 टीमों तक बढ़ाया जा सकता है।

आईपीएल शुरुआत से ही भारत में बहुत लोकप्रिय रहा है और आठ टीमों का प्रारूप बहुत ही रोमांचक है। अब तक आईपीएल का प्रारूप काफी फिट लग रहा है, लेकिन बीसीसीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, वह आईपीएल टूर्नामेंट में टीमों का विस्तार करना चाहता है। 2010 में , BCCI ने संभावित हितधारकों को आईपीएल की नई टीमों के लिए अपना टेंडर लगाने के लिए आमंत्रित किया था। पुणे वारियर्स इंडिया और कोच्चि टस्कर्स केरल सहारा ग्रुप और कोच्चि क्रिकेट प्राइवेट द्वारा खरीदे गए दो नए फ्रेंचाइजी के रूप में उभरे। क्रमशः, जहां बीसीसीआई ने वित्तीय मुद्दों के कारण वर्ष 2012 में कोच्चि को निष्कासित कर दिया था वहीं बीसीसीआई ने 26 अक्टूबर 2013 को पुणे वारियर्स इंडिया को आईपीएल फ्रेंचाइजी के रूप में चलाया। वहीं 2010 में आईपीएल का हिस्सा रहे और बाद में हटाई गई कोच्चि टस्कर्स केरल की फ्रेंचाइजी भी वापसी के प्रयासों में जुटी हुई है।

इंडियन प्रीमियर लीग में, 8 टीमों के बजाय, 10 टीमों को करने पर विचार किया जा रहा है जिसके बारे में यह माना जा रहा है कि टाटा समूह के साथ रतन टाटा, अदानी समूह और संजीव गोयनका समूह में आईपीएल फ्रेंचाइजी खरीद सकती है।

Loading...